दलित मंच
अगर आप भी मेरे तरह चाहते है कि दलित विचारधारा को वो मुकाम हासिल नहीं है तो कृपया खुद को यहाँ Register करे और योगदान दे ! धन्यवाद

जवाहिरी को सौंपी जाएगी कमान!

View previous topic View next topic Go down

जवाहिरी को सौंपी जाएगी कमान!

Post by KULDEEP BIRWAL on Mon May 02, 2011 10:19 pm

ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए चलाए गए अमेरिकी ऑपरेशन की पाकिस्‍तान को भनक तक नहीं लग सकी। अमेरिकी सैनिकों ने इस्‍लामाबाद के समीप अबोटाबाद स्थित एक आलीशान हवेली में अड्डा जमाए बैठे लादेन को निशाना बनाकर मिसाइलें दागीं। सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक सीआईए चीफ इस पूरे ऑपरेशन को लाइव देख रहे थे। लेकिन इस पर सवाल भी उठ रहे हैं कि आखिर पाकिस्‍तान को इससे पूरी तरह दूर क्‍यों रखा गया।

अमेरिकी फौजियों ने पाकिस्‍तानी मिलिट्री एकेडमी से महज 100 गज की दूरी पर स्थित दो मंजिली इमारत को तहस-नहस कर (तस्‍वीर में) दुनिया के मोस्‍ट वांटेड आतंकी को मार गिराया तो अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पाकिस्‍तानी राष्‍ट्रपति आसिफ अली जरदारी को फोन कर बताया कि मिशन कामयाब हो गया है।

अमेरिकी प्रशासन के सूत्रों ने कहा, ‘हम इस बात को लेकर चिंतित थे कि बिन लादेन पाकिस्‍तान में छुपा है लेकिन इस मसले पर हमें पाकिस्‍तानी सरकार की मदद की दरकार थी। ओबामा प्रशासन ने लादेन के खिलाफ चलाए गए ऑपरेशन की खुफिया जानकारी किसी देश से साझा नहीं की, पाकिस्‍तान से भी नहीं। अमेरिकी सैनिकों में भी बहुत कम लोगों को इस ऑपरेशन की भनक थी।’

एक अमेरिकी अधिकारी ने कहा, 'ऐसा करना इस ऑपरेशन और हमारे सैनिकों की सुरक्षा के लिहाज से जरूरी था। यही वजह थी कि हमने इस ऑपरेशन की जानकारी किसी को नहीं दी। इन हमलों के तुरंत बाद ही अमेरिकी अधिकारियों ने पाकिस्‍तानी हुक्‍मरानों से संपर्क किया और उन्‍हें हमलों की जानकारी दी।' हालांकि अमेरिकी अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि इस ऑपरेशन के लिए अमेरिकी विमानों ने कहां से उड़ान भरी थी।

लादेन की मौत पर पाकिस्‍तान में उठे सवाल
लादेन के मारे जाने को लेकर पाकिस्‍तान में सवाल उठ रहे हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने ऐलान किया कि ओसामा पाकिस्‍तान की राजधानी इस्‍लामाबाद के समीप अबोटाबाद में अमेरिकी सैनिकों के ऑपरेशन में मारा गया है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने अपने आधिकारिक ऐलान में कहा कि पाकिस्‍तान की मदद से लादेन को मारा गया है। लेकिन ओबामा के इस बयान पर उंगली उठाते हुए आईएसआई के पूर्व प्रमुख हामिद गुल ने कहा कि ओबामा की बात सच नहीं है। उन्‍होंने कहा कि अगर अमेरिका ने पाकिस्‍तान के साथ मिलकर लादेन के खिलाफ यह ऑपरेशन किया है तो इसकी तस्‍वीर क्‍यों नहीं दिखा रहे। हालांकि पाकिस्‍तान की पूर्व केंद्रीय मंत्री शेरी रहमान ने कहा कि आईएसआई की मदद से ही इस तरह का ऑपरेशन संभव था।

इंटरनेट पर ओसामा की शक्‍ल से जुड़ती तस्‍वीर जारी हो गई है जिसके सिर पर गोलियों के निशान हैं। हालांकि इस तस्‍वीर की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। ब्रिटिश अखबार ‘द टेलीग्राफ’ ने खबर दी है कि डीएनए जांच में ओसामा के शव की पुष्टि हो गई है। लेकिन दुनिया के सामने अभी इसका कोई सुबूत नहीं आया है।

ओसामा के अंतिम संस्‍कार को लेकर भी विरोधाभासी खबरें आ रही हैं। खबरों में कहा गया है कि उसका शव बरगाम एयर बेस पर लाया गया, जबकि सीएनएन के मुताबिक उसे समुद्र में दफना दिया गया।

इन सारे सवालों पर अमेरिका कोई रोशनी नहीं डाल रहा है। इसलिए शक गहरा रहा है। इंटरनेट और मीडिया के हलकों में ऐसी चर्चा भी शुरू हो गई है कि कहीं यह ओबामा अपनी गिरती लोकप्रियता का ग्राफ ऊपर उठाने की चाल तो नहीं चल रहे? जब तक पुख्‍ता तौर पर ओसामा के मारे जाने की जानकारी सुबूतों के साथ दुनिया के सामने नहीं आएगी, तब तक ये सवाल बने रहेंगे।


जवाहिरी को सौंपी जाएगी कमान!

आतंकी सरगना ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद उम्‍मीद है कि अल कायदा में नंबर दो अयमान अल जवाहिरी को आतंकी गुट की कमान सौंपी जा सकती है। लादेन के बेहद करीबी रहे जवाहिरी ने कई बार अमेरिका और उसके सहयोगी देशों को धमकी दी है।

जवाहिरी इंटरनेट पर वीडियो जारी कर अपने आंतकी संदेश का प्रसारण करता रहा है। हाल में उसने ऐसा ही वीडिया जारी कर दुनियाभर के मुसलमानों से लीबिया में अमेरिकी और नाटो की सेना के खिलाफ लड़ने का आह्वान किया।
avatar
KULDEEP BIRWAL
Admin

Posts : 149
Join date : 30.04.2011
Age : 37
Location : ROHTAK

View user profile http://kuldeepsir.com

Back to top Go down

View previous topic View next topic Back to top


 
Permissions in this forum:
You cannot reply to topics in this forum